Loading...
 

वैदिकाचार

वेद विहित कर्मों के अनुसार आचरण करने को वैदिकाचार कहते हैं।

यदि संक्षेप में कहा जाये तो इसके अनुसार यज्ञ-याग आदि कर्म करना, ऋतुकाल के अतिरिक्त पत्नी के साथ सहगमन न करना, पर्व के समय मत्स्य मांस न खाना तथा रात्रि में देव उपासना आवश्यक माना जाता है।


Contributors to this page: hindi .
Page last modified on Wednesday April 16, 2014 10:52:42 GMT-0000 by hindi.