Loading...
 

राग भैरव

राग भैरव भारतीय शास्त्रीय संगीत में एक राग है। यह भैरव थाट का राग है। इसकी जाति है सम्पूर्ण-सम्पूर्ण। इसका वादी स्वर है ध तथा सम्वादी स्वर है रे। इसका विकृत स्वर है रे, ध कोमल। इसके गायन का समय है प्रातःकाल।

इसका आरोह है - स, रे, ग म, पध, नि, सं।
इसका अवरोह है - सं, नि, ध, पमग, रे, स।
इसका स्वरूप है - स, ग, म प, ध प ग म रे, स।


Contributors to this page: hindi .
Page last modified on Tuesday February 25, 2014 08:25:31 GMT-0000 by hindi.