Loading...
 
यह एक चन्द्राकार टापू है और मालदीप के सबसे निकट स्थित है। 10.6 किमी लंबा मिनीकॉय लक्षद्वीप का दूसरा सबसे बड़ा टापू है। मालदीपिन संस्कृति मिनीकॉय को एक विशिष्ट पहचान देती हैं। यहां का लाइटहाउस सबसे अधिक प्रसिद्ध हैं। इस लाइट हाउस को अंग्रेजों ने बनवाया था। वर्तमान में यहां हर समय तिरंगा लहराता रहता है।

मिनीकॉय की टूना कैनिंग फैक्टरी टूना फिशिंग का प्रमुख केन्द्र है। इसके अलावा यहां का लावा नृत्य भी काफी प्रसिद्ध है। लावा पुरूषों का नृत्य है जिसमे ड्रम की धुनों पर नाचा जाता है। मिनीकॉय 10 गांवों का समूह है जिन्हें अथिरिस कहा जाता है।