Loading...
 

टोटेमवाद

टोटेमवाद मानव समूहों का यह विश्वास है कि उनकी उत्पत्ति किसी अमानव पूर्वज से हुई है। ऐसा विश्वास संसार भर में अनेक आदिम जातियों में पाया जाता है। उनमें से अनेक मानते हैं कि उनकी उत्पत्ति नाग, कोई पक्षी या किसी पशु आदि से हुई है।

ऐसी आदिम जातियों का विश्वास है कि उनके अमानव पूर्वज उनकी रक्षा करते हैं। यही कारण है कि वे उनकी पूजा भी करते हैं तथा प्रतीक चिह्न के रुप में अपने शरीर में उनकी आकृति का गोदना गोदवाते हैं, अपनी पताकाओं में उनके चित्र बनाते हैं, अपने घरों में उनके चित्र या मूर्तियां आदि रखते हैं तथा दीवालों में उनके चित्र बनाते हैं, आदि। उनकी लोककथाओं में उनके ऐसे अमानव पूर्वजों की कहानियां भी पायी जाती हैं।

ये आदिम जातियां अपने अमानव पूर्वजों के नाम भी अपने नाम के साथ लगाती हैं और अपने को उन्हीं के वंश का बताती हैं।