Loading...
 

झांझी

झांझी या झैंझी बालिकाओं द्वारा शारदीय नवरात्र के दिनों में गाया जाने वाला गीत है। ये गीत ब्रज में ज्यादा लोकप्रिय हैं। झांझी मिट्टी के छेददार घड़े होते हैं जिनके अन्दर दिया जलाया जाता है। गीत गाने वाली बालिकाएं साथ में ऐसी ही झांझी लेकर घर-घर गीत गाते हुए जाती हैं तथा पैसे मांगती हैं। झांझी गीत मनोरंजन प्रधान होते हुए भी कथा की दृष्टि से अद्भुत होते हैं।

इसी अवसर पर बालक टेसू के गीत गाते हैं। टेसू मनुष्य की आकृति का एक खिलौना होता है जिसे लेकर बालक टेसू के गीत गाते हुए घर-घर जाते हैं और पैसे मांगते हैं।

टेसू तथा झांझी के इस खेल के अन्त में पूर्णिमा के दिन दोनों का विवाह कराया जाता है। उसके बाद टेसू का सिर उखाड़कर फेंक दिया जाता है।

ध्यान देने वाली बात है कि टेसू और झांझी के गीत बच्चे ही गाते हैं।