Loading...
 

अभिहितान्वयवाद

अभिहितान्वयवाद वह मत है जिसमें अभिधा द्वारा उपस्थित अर्थों के अन्वय को ही महत्वशाली माना जाता है।

यह मत कुमारिलभट्ट द्वारा प्रवर्तित है।


Contributors to this page: hindi .
Page last modified on Friday January 10, 2014 17:48:08 GMT-0000 by hindi.